” गुरु पूर्णिमा ” शब्द का मूल अर्थ 

 ” गुरु पूर्णिमा ” शब्द का मूल अर्थ 

 ” गुरु पूर्णिमा ” शब्द का मूल अर्थ 


नमस्ते मित्रों ,
श्रीविद्या संजीवन साधना सेवा पीठम , ठाणे में आप सभी का स्वागत हैं ।

हर साल गुरु पूर्णिमा आती है , लोग प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से उसे मनाते हैं ।

गुरु का अर्थ सभी जानते है की गुरु अंधेरा दूर कर प्रकाश में लाता है ।

प्रकाश का अर्थ है ज्ञान ……..
जो ज्ञान आपको जीवन्मुक्ति का मार्ग दिखा सके ।
और इसके लिए आपको प्रत्यक्ष उपस्थित गुरु की जरूरत अधिक होती हैं ।

ऊपरी जगत में भी नगुरे अर्थात जिसने गुरु नही किया उस जीवात्माओं को कोई स्थान नहीं है ।
बल्कि , जिसने गुरु के साथ रहकर कुछ सीखा है , ज्ञान प्राप्ति की है , उसे ऊपरी जगत के गुरु मंडल भी प्रणाम करते हैं ।

व्यक्ति , गुरु कितने बदल सकता हैं ?
जबतक किसीको मोक्ष गुरु उपलब्ध नहीं होता , तबतक आप गुरु बदल सकते हैं ।
और मुख्य बात यह है कि मोक्ष गुरु कभी कोई मंत्र दीक्षा अथवा कुण्डलिनी जागरण नहीं करवाता ।
चाहे तो इन हजार सालो में जन्मे सन्तो के चरित्र देखे ।

बिना मंत्र के नाद से जो अनहद नाद बजाए वही गुरु है ।

बहुत बार लोग ….. कुछ चीजे आध्यात्मिक जगत में समझकर नहीं लेते ।
आजके समाज में शॉर्ट कट बहुत फैला हैं ।
एक मंत्र एक यंत्र और कुण्डलिनी के स्टेप कल्पना करके आध्यात्मिक अनुभूतियां ली जाती हैं । इसमें गुरु से रूबरू मिलन भी नहीं होता ।
घर जाने पर आगे कैसे बढ़ना है ? आने वाली अनुभति माया है की सत्य है ? इसकी पहचान कैसे होगी ?

आपने कभी वीणा बजाने वाले , व्हायोलिन , तबला , बासुरी बजाने वाले को पूछा है ? या फिर ……. शास्त्रीय संगीत सुनते ही आप , …… उनसे कभी पूछा है की , क्या आपने गाना चार दिन के शिविर में सीखा ? सभी ताल सभी सुर सभी राग सीखने में कितना समय लगा ?
तुम क्लास कितने दिन गए ? गुरु से कितनी डाट खाई ? गुरु से बातचीत कितनी हुई ? तुमने कितने सवाल पूछे गुरु से ?

मित्रों , शास्त्रीय संगीत और नृत्य की पढ़ाई बहुत कठिन होती है । टीचर बड़ी लाठी पैरों पर मार मार के एक एक स्टेप करवाके लेता है ।

इतनी सालो की कड़ी मेहनत के बाद कोई स्टेज पर जाकर अपनी कला प्रदर्शित करता है ।
आप लोग इन कलाकारों से ऊपरी सवाल जरुर पूछिए , आध्यात्मिक प्रगति में यह मार्गदर्शक होंगे ।

क्योंकि , यह आध्यात्मिक जगत में बहुत लोग भ्रामित हैं । उन्हें लगता है कि गुरु तस्वीर से अथवा गुरु अपने मन में आकर सबकुछ सिखाएगा ।

किसीके रूप को गुरु मानना और किसी गुरु का रूप अपने अंदर समाहित करना , दोनों में अंतर है ।

अब गुरु पूर्णिमा का अर्थ क्या है ?
गुरु यानी अंधेरा दूर करने वाला और ज्ञान का प्रकाश लाने वाला ।
पूर्णिमा क्या है ? , 16 तत्व चन्द्र के जिसे सोमकला श्रीविद्या में कहते हैं । सूर्य की रोशनी चन्द्र पर रिफ्लेक्ट होती हैं और चन्द्र की रोशनी पृथ्वी पर रिफ्लेक्ट होती है ।
इसी सूर्य-चन्द्र-पृथ्वी की रोशनी की गति को हम अमावस्या और पूर्णिमा कहते है , 15 – 15 दिन ।
इसीमें Time अर्थात काल बंधा है , और उसी काल में हम सबकी कार्मिक अकॉउंट बंधी हैं । पृथ्वी पर ही जन्म मृत्यु होते है , बार बार नए नए जन्म कर्म भुगतने के लिए होते हैं , जन्म मृत्यु का अर्थ है ” अज्ञान का अंधकार “।

यही 15 दिन की अमावस्या पूर्णिमा को श्रीविद्या साधना में पंचदशी कहा हैं । पंचदशी , 15 बीजाक्षर वाला मंत्र ।
पूर्णिमा में ही एक पूर्ण कला होती है , उस दिन चन्द्र पूर्ण रूप से कुछ समय के लिए होता हैं ।
वो सोलहवीं कला हैं ।

इसलिए पूर्णिमा में सोलह कला अर्थात उसे षोडषी कही जाती हैं । षोडषी वही त्रिपुरसुंदरी है ।
यह सूर्य – चन्द्र – पृथ्वी का Time डायमेंशन हैं , इसी ” चांद ” का प्रतीक शिव के सर पर है और दसमहाविद्याओ के सर पर भी वही चांद है ।
यह 16 कला रूपी चंद्रमा , अर्थात समय से परे अर्थात समय पर पूर्ण नियंत्रन करने वाली शक्तियाँ है , उसका प्रतीक हैं ।

गुरु क्या करता हैं ?
इसी 16 रूपी पूर्णिमा के समयचक्र में फंसे मनुष्य की जीवत्मा को गुरु अपने ज्ञान अमृत से बहार लाता है ।
क्योंकि , समयचक्र में फसना अर्थात जन्म – मृत्यु बंधन और फिर से नए कर्म , फिर से पुराने कर्मो का भुगतान करना । यही है अज्ञान । यही है अविद्या ।

इसलिए कभी भी ” पूर्णिमा गुरु ” नहीं कहा जाता ।
बल्कि ” गुरु पूर्णिमा ” कहा जाता हैं ।

दत्तात्रेय जी ने कई सालो तक श्री दक्षिणामूर्ति जी के पास रहकर ज्ञान प्राप्ति की थी । अंतिम पँचमवेद का ज्ञान भी दिया , जो श्रीविद्या साधना में गुरु अपने शिष्य को देता हैं । परशुरामजी के पास दुनिया के सभी अस्त्र शस्त्र तथा ज्ञान था , फिर भी माया ने उन्हें फसाया । और इतना सबकुछ होकर भी उन्हें अंतिम ज्ञान के लिए दत्तात्रेय जी के पास जाकर श्रीविद्या का पवित्र ज्ञान लेना पड़ा । परशुरामजी बहुत सालो तक दत्तात्रेय के पास रहे ।

आजका यह लेख मेरे गुरु के ज्ञान का प्रकाश है , जो में लिख रहा हु ।

@
श्रीविद्या पीठम , ठाणे
09860395985

Share

Written by:

210 Posts

View All Posts
Follow Me :

737 thoughts on “ ” गुरु पूर्णिमा ” शब्द का मूल अर्थ 

  1. You are really a excellent webmaster. This site loading velocity is incredible.
    It sort of feels that you’re doing any unique
    trick. Moreover, the contents are masterwork.

    you’ve done a great task on this subject!
    Similar here: sklep and also here: Najlepszy sklep

  2. Hey! Do you know if they make any plugins to help with Search Engine Optimization? I’m trying to get my blog to rank for some
    targeted keywords but I’m not seeing very good
    success. If you know of any please share. Cheers! You can read similar article here:
    Sklep online

  3. Hi there! Do you know if they make any plugins to assist with Search Engine Optimization? I’m
    trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m
    not seeing very good success. If you know of any please share.

    Many thanks! You can read similar art here: Najlepszy sklep

  4. Good day! Do you know if they make any plugins
    to help with SEO? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good gains.
    If you know of any please share. Thanks! You can read similar article
    here: Sklep online

  5. Howdy! Do you know if they make any plugins to help with SEO?
    I’m trying to get my blog to rank for some targeted
    keywords but I’m not seeing very good results.

    If you know of any please share. Thanks! You can read similar blog here: E-commerce

  6. Howdy! Do you know if they make any plugins to assist with SEO?
    I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good success.
    If you know of any please share. Appreciate it! You can read similar text here: GSA List

  7. Howdy! Do you know if they make any plugins to help with SEO?

    I’m trying to get my website to rank for some targeted
    keywords but I’m not seeing very good results.
    If you know of any please share. Thank you! You can read similar article here: Backlink Portfolio

  8. Hey there! Do you know if they make any plugins to help with SEO?
    I’m trying to get my website to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good results.

    If you know of any please share. Appreciate it!
    You can read similar art here: Link Building

  9. Wow, incredible blog layout! How lengthy have you been blogging for?
    you make running a blog glance easy. The entire glance
    of your website is fantastic, as well as the content!
    You can see similar here sklep online

  10. Wow, incredible weblog structure!
    How long have you ever been blogging for? you made running a blog
    glance easy. The overall look of your site is great,
    let alone the content material! I read similar here prev next and those
    was wrote by Leo98.

  11. Top 10 Online Shopping Sites In Uk For Clothes Tools To Help You Manage
    Your Everyday Lifethe Only Top 10 Online Shopping Sites In Uk For Clothes Trick Every Person Should Learn vimeo.Com