मातृका चक्र १) ” अ अं ” अक्षर की श्रीअजामुखी देवी

मातृका चक्र १) ” अ अं ” अक्षर की श्रीअजामुखी देवी

श्रीअमृता देवी / श्रीअजामुखी देवी


नमस्ते मित्रों ,
श्रीविद्या संजीवन साधना पीठम में आपका स्वागत हैं ।

आज हम श्रीअजामुखी देवी के विषय पर ज्ञान लेंगे ।

५१ मातृकाओं के विषय पर आप जानते ही होंगे ।

देवताया: शरीरं तु बिजादुत्पद्यते ध्रुवं ।।
इस श्लोक को ध्यान से पढोगे तो समझ आएंगा की देवताओं का मूल जन्म का केंद्र अथवा बीज यही ५१ बीजाक्षर हैं ।
अगर आपने मंत्रो के गलत बीजाक्षरों के उच्चारण किए तो विकृत देव शक्ति प्रगट होगी ।
इसलिए सभी मंत्रो को सही गुरु के द्वारा समझकर ही दीक्षा धारण करनी चाहिए ।

इन ५१ मातृकाओं की ५१ देवीया हैं ।
हर देवी का स्वरूप , रंग , स्वभाव , शक्ति , गुण अलग अलग हैं ।

सभी बीजाक्षरों में एक ही ऐसा अक्षर है जो सबमें आता हैं , वो हैं ” अ ” ।
अगर ‘ म ‘ शब्द लेंगे तो उसमें भी ‘ म् + अ = म ‘
इसी तरह से सभी अक्षरो में अ अक्षर आता ही हैं ।

५१ बीजाक्षरों का पहला शब्द ” अ ” हैं ।
ॐ इस मूल शब्दब्रम्ह अथवा मंत्र का भी पहला अक्षर ” अ ” हैं ।

इस ” अ ” बीज अक्षर की देवी का नाम ” अमृता अथवा अजामुखी ” हैं ।

” अ ” का अर्थ हैं ,
unborn …. अजन्मा
Unproductive …. जिसकी कोई निर्मिती नहीं
Beyond being or Nonbeing
इतना महत्व इस पहले बीजाक्षर का हैं ।

अधिक जानकारी के लिए इस लेक्चर को सुनिए ।

Share

Written by:

210 Posts

View All Posts
Follow Me :

7 thoughts on “मातृका चक्र १) ” अ अं ” अक्षर की श्रीअजामुखी देवी

  1. Hey there! Do you know if they make any plugins to help with
    SEO? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good results.
    If you know of any please share. Cheers! You can read similar blog here: E-commerce

  2. Howdy! Do you know if they make any plugins to help with
    SEO? I’m trying to get my website to rank for
    some targeted keywords but I’m not seeing very good gains.

    If you know of any please share. Appreciate it!

    You can read similar article here: Backlink Building

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 17 =

error: Content is protected !!
× How can I help you?