संपूर्ण सिद्धकुंजिका साधना

|| Powerful Sadhna That Removes All Negativity And Hurdles In Life ||
श्रीसिद्धकुंजिका संपूर्ण साधना

नमस्ते मित्रों ,
श्रीविद्या पीठम में आप सभीका स्वागत हैं ।

सिद्धकुंजिका सहित नवार्ण मंत्र साक्षात पूजन विधि

बहुत लोगों को उनके कुल की कुलदेवी के आशीर्वाद नहीं होते , बहुत पीढ़ियों से कुलदेवी को भुलने के कारण कुलदेवी के रोष का कारण बनना पड़ता हैं ।
जिससे कि बहुत परिवारों में अनुवांशिक पीड़ा , एक ही प्रकार की बीमारी , Education सही होने पर भी करियर में अड़चने आना , एक ही समय पर कई सारे तनाव आना , सदैव मानसिक तनाव , किसी भी शुभ कार्यो में अशांति आना ऐसे कई सारे तनाव से बहुत लोग गुजरते हैं ।
क्योंकि , घर की कुलदेवी के आशीर्वाद प्राप्त नहीं ।

अगर समय पर कुलदेवी के आशीर्वाद प्राप्त नहीं किए तो बहुत बड़े बड़े घराने , परिवार नष्ट हो चुके / विकृतियाँ आ गई …… इन सबसे अपने आपको बचाना और अगली पीढ़ी को भी बचाना आवश्यक हैं ।

सिद्धकुंजिका स्तोत्र और नवार्ण मंत्र भी सिर्फ लोग पढ़ते हैं , पर कई साल पढ़ने के बाद भी उसकी सिद्धि नहीं मिलती ।
क्योंकि , साधना का पूर्ण विधान नहीं पता ।

श्री सिद्धकुंजिका नवार्ण साधना पूजन विधान हम आपके सामने रख रहे हैं ।
उसमें निम्न प्रकार से साधनाए हैं , जो आपके जीवन में परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण हैं ।

1) श्रीचामुंडा देवी पूजन ( नवार्ण मंत्र )
2) सिद्धकुंजिका तर्पण
3) सिद्धकुंजिका हवन
4) नवार्ण मंत्र न्यासः विधान
5) स्फटिक माला शास्त्रोक्त विधान
6) सिद्धकुंजिका मंडल पूजा

यह सभी विषय वीडियो सहित pdf उपलब्ध हैं ।
साथ में एक बुक भी दी जाएंगी ।

1) श्रीचामुंडा देवी पूजन ( नवार्ण मंत्र )

पहली बार यह साधना हमारे द्वारा लोगो के सामने ला रहे हैं । इसको आजतक किसीने उजागर नहीं किया ।
इस पूजन से कुलदेवी के आशीर्वाद कैसे प्राप्त कर सकते हैं , तथा बहुत लोग सिर्फ नवार्ण मंत्र का जाप करते हैं ।
उसके उतने फायदे तथा मूल शक्ति उठ नहीं पाती । चामुंडा की स्थापना अत्यंत आवश्यक हैं । वो किस प्रकार से करनी है , तथा जैसे घर बनाते वक्त वास्तु देवतां स्थापना होती है , वैसे श्रीचामुंडा देवी की स्थापना नवार्ण मंत्र जाप और सिद्धकुंजिका साधना से पहले आवश्यक हैं ।
सोचिए , कुलदेवी ही सिद्ध हो जाए तो क्या नहीं हो सकता ।

                2) सिद्धकुंजिका तर्पण

सिद्धकुंजिका स्तोत्र बहुत लोग पढ़ते हैं , उसमें दो श्लोक मिसिंग हैं । हमने पूर्ण स्तोत्र देकर उसको सिद्ध करने के लिए तर्पण विधान भी दिया हैं ।
सिद्धकुंजिका स्तोत्र में किन किन देवताओं का आवाहन है वो सभी को अलग अलग ओषधी द्रव्यों से तृप्ती करने की विधि बताई हैं ।
अगर हम मनुष्य अन्न से पोषित होकर रोज के कार्य करते हैं तो , शक्तियाँ भी उनकी द्रव्यों से पोषित होती हैं ।

3) सिद्धकुंजिका हवन

इस विधान में सिद्धकुंजिका में सिद्ध अलग अलग शक्तियों को जागृत कर हमारे संकल्प पूर्ति तथा आध्यात्मिक तेज बढाने हेतु हवन बताया गया हैं ।
किन महत्वपूर्ण द्रव्यों से आहुती देने है वह क्रम दिया हैं ।

4) नवार्ण मंत्र न्यासः विधान

सिद्धकुंजिका स्तोत्र की देवता श्रीचामुंडा देवी हैं । स्तोत्र के साथ जाप आवश्यक हैं । परंतु , जाप भी तभी सिद्ध होगे जब साधक शरीर देवी जैसा बनेगा ।
न्यासः विधान में वह सभी आवश्यक प्रोसेस बताई हैं ।

5) नवार्ण अक्षमाला पूजन

नवार्ण मंत्र जाप करते समय बहुत लोग माला लेते हैं , परन्तु जबतक माला के ऊपर पहले श्रीचामुंडा देवी का आवाहन करना आवश्यक हैं ।
माला की सिद्ध कैसे करते हैं , पहली बार वह विधान हम दे रहे हैं ।

6) सिद्धकुंजिका मंडल पूजन

मंडल पूजन में आप अपने घर को , भूमि को , अपने परिवार को , अपने आपको किस प्रकार कवच बना सकते हो । अपने संकल्प की पूर्ति के लिए , मंडल पूजा से किस प्रकार महाशक्ति के समस्त अनुचरि यो के आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं ।
इस सबकी विधि बताई हैं ।
यह मंडल पूजन सबसे प्राचीन और तांत्रिक क्रियाओं से एक हैं , बहुत समय पश्चात अलग अलग तैलीय ओषधी द्रव्यों द्वारा , सुगंधो से शक्तियों को कार्य के लिए बुला सकते हैं , उसका पूरा विधान बताया हैं ।

Book Publish , 42 Pages Book

 

 

 

                                              Energy Exchange :  Rs. 5001/ 125$ 

For Google Pay Say ” श्रीसिद्धकुंजिका साधना ” From your Google Pay/Tez – +91 98603 95985

For Google pay please send your name and email address by whatsapp to +919860395985 or by email to sripitham@gmail.com. We will provide you access to the course within 24 hrs. For payment through Paypal you will receive instant access by following the registration process after the payment, alternatively you can also contact us via email for access.

By Bank Transfer:

Nivrutti Anil Ubale.
Induslnd Bank ,
AC No. 153131445151
IFSC Code : INDB0001365
City : Kankavli

(After making Bank transfer please send your Name and Email address to sripitham@gmail.com or whatsapp to +919860395985 and we will provide you access to the course within 24 hours.)

For any questions about the course please contact us by email or whatsapp as above.

Share
error: Content is protected !!
× How can I help you?